We are always available to address the needs of our users.लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार
+91-9606800800

सीधी भर्ती के माध्यम से सेंट बैंक होम फाइनेंस लिमिटेड में मुख्य जोखिम अधिकारी पद

सेंट बैंक होम फाइनेंस लिमिटेड सीधी भर्ती के माध्यम से निम्नलिखित पद के लिए आवेदन आमंत्रित करता है:

पद का नाम: मुख्य जोखिम अधिकारी

आवश्यक योग्यता: नियमित कक्षा पाठ्यक्रम में यूजीसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री। उम्मीदवार के पास ग्लोबल एसोसिएशन ऑफ रिस्क प्रोफेशनल्स से फाइनेंशियल रिस्क मैनेजमेंट में प्रोफेशनल सर्टिफिकेशन या PRMIA इंस्टीट्यूट से प्रोफेशनल लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार रिस्क मैनेजमेंट सर्टिफिकेशन होना चाहिए। क्रेडिट रिस्क, मार्केट रिस्क, लिक्विडिटी रिस्क, ऑपरेशनल रिस्क और अन्य प्रकार के जोखिमों की अच्छी समझ।

वांछित:

IIB की CAIIB परीक्षा या समकक्ष परीक्षा;

वित्त विशेषज्ञता के साथ एमबीए।

सीएफए संस्थान द्वारा सम्मानित चार्टर्ड वित्तीय विश्लेषक या भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट संस्थान द्वारा नामित चार्टर्ड एकाउंटेंट या विदेश में समकक्ष या भारत के लागत लेखाकार संस्थान या विदेश में समकक्ष द्वारा लागत और प्रबंधन लेखाकार के रूप में नामित।

लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

Types of Mutual Funds in Hindi म्यूचुअल फंड के प्रकार

Types of Mutual Funds in Hindi म्यूचुअल फंड के प्रकार आज हम समझेंगे कि म्यूचुअल फंड किस किस प्रकार के होते हैं और इनकी कौन कौन सी श्रेणियां होती हैं. भिन्न भिन्न प्रकार के म्यूचुअल फंड कहाँ और कैसे निवेश करते हैं और किस प्रकार के Mutual Funds में कितना रिस्क होता है. यह भी समझेंगे कि कौन सा म्यूचुअल फंड का प्रकार रिस्क फ्री होता है और किस में अधिक कमाई के मौके आ सकते हैं. अलग अलग तरह के म्यूचुअल फंड इस तरह डिजाईन कियी जाते हैं कि अलग अलग श्रेणी के निवेशक अपने जोखिम लेने की क्षमता, निवेश के लक्ष्यों, निवेश की अवधि और निवेश की राशी के अनुसार उनका चयन कर सकें. यहां पढ़िये म्यूचुअल फंड्स कैसे खरीदें।

Types of Mutual Funds in Hindi म्यूचुअल फंड के प्रकार

Types of Mutual Funds in Hindi

जब आप Types of Mutual Funds in Hindi को समझने की कोशिश कर रहे हैं तो यहाँ आपको बता दें कि म्यूचुअल फंड्स को हम मुख्य रूप से दो श्रेणियों में बाँट सकते हैं ओपन एंडेड और क्लोज्ड एंडेड. यहां आपको विस्तार से बता रहे हैं म्यूचुअल फंड के लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार प्रकार।

  • ओपन एंडेड योजना Open Ended Mutual Funds
    • डेट फंड Debt Fund
    • लिक्विड फंड Liquid Fund
    • इक्विटी फंड Equity Fund
    • बैलेंस्ड फंड Balanced Fund
    • कैपिटल प्रोटेक्शन फंड
    • फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान

    Details about Types of Mutual Funds in लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार Hindi

    यहां विस्तार से बता रहे हैं Types of Mutual Funds हिंदी में

    Open Ended Schemes में योजना अवधि के दौरान किसी भी समय निवेशक इकाइयों यानि यूनिट्स को खरीद या बेच सकता है. इसकी कोई निश्चित मैच्योरिटी यानि परिपक्वता तिथि नहीं होती. आप जब आवश्यक हो अपने निवेश को भुना सकते हैं यानी ओपन एंडेड स्कीम में लिक्विडिटी अर्थार्थ तरलता रहती है. कुछ ओपन एंडेड फंड्स में लॉक इन पीरियड रहता है जैसे कि ELSS लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार स्कीम. लॉक इन पीरियड के दौरान आप अपने यूनिट्स को रिडीम नहीं कर सकते. Mutual Funds की ओपन एंडेड फंड्स की श्रेणी में डेट फण्ड Debt Fund, लिक्विड फण्ड Liquid Fund, इक्विटी फण्ड Equity Fund और बैलेंस्ड फण्ड Balanced Fund आते हैं.

    डेट फंड Debt Fund

    डेट फंड में अधिकतर निवेश डिबेंचर, सरकारी प्रतिभूतियों और अन्य ऋण उपकरणों में किया जाता है. Debt Fund, इक्विटी फण्ड के मुकाबले कम लाभ दे सकते हैं मगर कम जोखिम के साथ यह फंड एक निश्चित लाभ देने में सक्षम हो सकते हैं. एक स्थिर आय चाहने वालों के लिए यह फंड आदर्श हो सकते हैं.

    Types of Mutual Funds in Hindi – Close Ended Schemes

    क्लोज्ड एंडेड योजना में केवल योजना की शुरुआत में जब NFO यानि New Fund Offer जारी किया जाता है तभी निवेश कर सकते हैं. क्लोज्ड एंडेड योजना में एक मैच्योरिटी यानि परिपक्वता तिथि पहले से निर्धारित होती है. परिपक्वता तिथि से पहले क्लोज्ड एंडेड योजना से बाहर नहीं निकला जा सकता इसलिए कह सकते हैं कि क्लोज्ड एंडेड योजना में लिक्विडिटी अर्थार्थ तरलता नहीं होती है. क्लोज्ड एंडेड योजनाओं में मुख्य रूप से दो तरह लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार के फंड होते हैं कैपिटल प्रोटेक्शन फण्ड Capital Protection Fund और फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान Fixed Maturity Plan.

    कैपिटल प्रोटेक्शन फंड Capital Protection Fund

    कैपिटल प्रोटेक्शन फंड में मुख्य रूप से निवेश की गई राशी को सुरक्षित रखते हुए लाभ कमाने के लिए निवेश किया जाता है. इस योजना में मुख्य लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार रूप से फिक्स्ड इनकम सिक्योरिटीज में निवेश किया जाता है मगर एक छोटा भाग इक्विटी में भी निवेश किया जाता है. इन फंड्स में कैपिटल को सुरक्षित रखने का दबाव रहता है और क्योंकि यह एक क्लोज्ड एंडेड योजना होती है इसीलिए केवल निश्चित समय अवधि तक ही निवेश लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार किया जाता है इसलिए फण्ड मेनेजर के पास अधिक रिस्क लेने की संभावना ही नहीं रहती है.

    नए फाइनेंसियल ईयर में ना दोहराएं पुरानी गलतियां, इन ऑप्शन्स में करें निवेश, कमाई में 100 फीसदी तक का होगा इजाफा

    new financial year: 5 best options to invest Fixed Income, Risk cover, Liquidity, commodities, real estate | नए फाइनेंसियल ईयर में ना दोहराएं पुरानी गलतियां, इन ऑप्शन्स में करें निवेश, कमाई में 100 फीसदी तक का होगा इजाफा

    सिर्फ अमीर बनने की चाहत रखने से कोई अमीर नहीं बन सकता ना ही घर बैठे बैठे मोटा कमाया जा सकता है। लेकिन अगर थोड़ी समझ हो तो आप बस थोड़ा सा इन्वेस्ट करके अच्छी रकम जमा कर सकते है। यहां हम आपको बेहतरीन तरीके बताएंगे जिसकी मदद से आप अपनी आमदनी में काफी हिजाफा कर सकते हैं।

    फिक्सड इनकम (डेट फंड)
    फिक्सड लिक्विडिटी जोखिम के प्रकार इनकम को डेट फंड भी कहते हैं। यह एक प्रकार का म्यूचुअल फंड है। डेट फंड स्टेबल, लिक्विड और टैक्स देनदारी के लिए एक अच्छा ऑपशन है। इसमें अधिकतर लोग पसंद निवेश करना पसंद करते हैं। इसमें निवेशकों का पैसा डेट इंस्ट्रूमेंट में लगाया जाता है। बता दें कि कॉल मनी, बॉन्ड, डिबेंचर्स, सरकारी सिक्योरिटीज, डिपॉजिट सर्टिफिकेट और कमर्शियल पेपर को डेट इंस्ट्रूमेंट कहते हैं। इसे आप अपनी जरूरतों के हिसाब से चुन सकते हैं। यह 1-15 दिन से लेकर 5-10 साल (long term Bond funds) तक होता है।

    Read in other Languages

    • Property Tax in Delhi
    • Value of Property
    • BBMP Property Tax
    • Property Tax in Mumbai
    • PCMC Property Tax
    • Staircase Vastu
    • Vastu for Main Door
    • Vastu Shastra for Temple in Home
    • Vastu for North Facing House
    • Kitchen Vastu
    • Bhu Naksha UP
    • Bhu Naksha Rajasthan
    • Bhu Naksha Jharkhand
    • Bhu Naksha Maharashtra
    • Bhu Naksha CG
    • Griha Pravesh Muhurat
    • IGRS UP
    • IGRS AP
    • Delhi Circle Rates
    • IGRS Telangana
    • Square Meter to Square Feet
    • Hectare to Acre
    • Square Feet to Cent
    • Bigha to Acre
    • Square Meter to Cent
रेटिंग: 4.84
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 446